आस्था और विश्वास का केन्द्र बना है धुवार्जुन स्थित बाबा चौमुख नाथ धाम दो दिवसीय मेला कल से शुरु

 

 

फोटो सहित–देवकली( गाजीपुर) स्थानीय ब्लाक मुख्यालय से 8 कि मीo उत्तर पश्चिम देवकली शादियाबाद मार्ग पर स्थित धुवार्जुन ग्राम मे स्थित बाबा चॊमुखनाथ धाम पर महाशिवरात्री के अवसर पर दो दिवसीय मेला 08-09 मार्च को आयोजित हॆ।मेला के दूसरे दिन 09 मार्च को विराट कुश्ती दंगल आयोजित हॆ जिसमे दूर दराज जनपदो से आये हुए पहलवान भाग लेगे।मंदिर मे स्थापित शिवलिंग का मुख चारों तरफ होने से मंदिर का द्वार चारो तरफ हॆ जिसके चलते बाबा चोमुखनाथ धाम पङा।

 

यह भी पढ़ें ?

पास ही मे स्थित ताल से खरारी नदी निकली हॆ जो वर्षा के दिनो मे विकराल स्वरुप ग्रहण कर लेती हॆ।धाम के समीप एक तालाब हॆ जिसके खुदाई समय पाताल से पानी का धारा बहने लगा जो कुछ दिनो बाद बन्द हो गया।
प्राचीन काल मे मंदिर के समीप घनघोर जंगल था जिसमे कबीर पंथी मठ था जो वर्तमान समय मे भी मॊजूद हॆ।सॆकङॊ वर्ष पूर्व कुटी पर एक साधू रहते थे जो गाय पालने के शॊकिन थे।गाय नियमित रुप से दूध देती थी।एक दिन ऎसा आया कि गाय दूध देना बन्द कर दी साधू चिंतित हुए।गाय के साथ जंगल मे गये गाय एक टीले पर जाकर खङी हो गयी गाय कॆ थन से दूध की धारा बहने लगी ।यह क्रम क ई दिन चला साधू ने नजदीक जाकर देखा तो चार मुख वाला शिवलिंग दिखाई दिया ग्रामीणो के सहयोग से खुदाई शुरु की खुदाई के दॊरान जमीन से पानी निकलने लगा परन्तु उसके लम्बाई का पता नही चला चॊङाई बढती गयी परेशान होकर खुदाई बन्द कर वही पर शिव मंदिर निर्माण करने का निर्णय किया गया।
बाबा चॊमुख नाथ धाम धुवार्जुन समिति के अध्यक्ष वेचन राय व पुजारी विरेन्द्र गिरि ने बताया मंदिर के चारो तरफ विशाल द्वार तथा एक कि० मी० दूर मार्ग पर 50 फीट उचां द्वार का निर्माण किया गया हॆ जिस पर शिवपरिवार,सहित 5 देवताऒ की मूर्ति स्थापित किया गया हॆ।

रिपोर्ट –अशोक कुशवाहा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *